ट्रेन की पटरी पर जंग क्यूँ नहीं लगता है?

क्या आपने कभी सोचा है की, ट्रेन की पटरी पर जंग क्यूँ नहीं लगता? 24 घंटे हवा या पानी के संपर्क में होते हुए भी ट्रेन की पटरी में जंग नही लगता। आखिर ऐसा किस वजह से है, चलिए जानते है।

MastFacts Why wont train tracks get rust reason in hindi

दोस्तों, ट्रेन की पटरी में जंग नही लगने का सबसे बड़ा कारण रेलवे ट्रैक को बनाने में इस्तेमाल होने वाली मेटल यानी लोहे का है। दरअसल दोस्तों, रेल के पटरी में जिस स्टील का इस्तेमाल किया जाता है, उसमे अलग-अलग तरह के मेटल को भी मिक्स किया जाता है। सभी तरह के जो मेटल रेल की पटरी को बनाने में इस्तेमाल किये जाते है, उनमे से सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है Mangalloy, जिसे manganese steel या Handfield Steel के नाम से भी जाता है।

Mangalloy एक प्रकार की मिश्र धातू होती है जिसमे 12% Manganese और 0.8% से 1.2% तक कार्बन मोजूद होता है। ये सभी चीज़े मिल कर रेलवे ट्रैक की Oxidation Process यानी जंग लगने की रफ़्तार को काफी ज्यादा धीमा कर देता है। परिणामस्वरूप, जो स्टील 2 या 3 सालो में ही जंग लग कर टूट जानी चाहिए थी, वो सालो साल चलती रहती है और इसी की वजह से हमारी ट्रेन भी उसके ऊपर सालो साल दोड़ती रहती है।

दोस्तों, रेल की पटरी का ऊपरी भाग आम तौर पर खराब नहीं होता क्योंकि रेल चलने के दोरान घर्षण पैदा होता है, जिसके कारण रेल की पटरी पॉलिश होती रहती है और उसमे आसानी से जंग नही लगता।

यह भी पढ़ें:
सभी मोटरसाइकिल में डीज़ल इंजन क्यूँ नहीं लगाया जाता?
हवाई जहाज की खिड़की गोल क्यों होती हैं?
उड़ते हवाई जहाज से करोड़ों का फ्यूल क्यूँ निकाला जाता है?
टायर का रंग काला ही क्यों होता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *