बारिश के बाद मिट्टी से खुशबू क्यूँ आती है?

कभी न कभी आपके मन में ये सवाल आया होगा की आखिर, बारिश के बाद मिट्टी से खुशबू क्यूँ आती है? (smell of soil after first rain reason in hindi) जब पहले सीज़न की बारिश होती है, तो ज़मीन से या आस-पास से एक ख़ास तरह की मिट्टी की गंध आती है। हैना! इस अनूठी गंध को सुखद माना जाता है। लेकिन क्या आप बारिश के बाद आती मिट्टी से खुशबू के पीछे का कारण जानते हैं? अगर नही तो चलिए इस पोस्ट के माध्यम से यह जानने की कोशिश करते हैं.

mastfacts smell of soil after first rain reason in hindi interesting facts about rain and soil

बारिश के बाद मिट्टी से खुशबू आने के पीछे 3 मुख्य कारण हैं

1. ओजोन के कारण आंधी के बाद आती ताज़ा गंध।

बारिश के बाद मिट्टी से खुशबू का पहला कारण ताज़ा गंध है जो ओजोन के कारण आंधी के बाद आती है। वैज्ञानिकों के अनुसार ओजोन में क्लोरीन गैस के समान तीखी और बहुत तेज गंध होती है। बारिश के बाद, वायुमंडल में मौजूद ओजोन गैस की कुछ मात्रा बारिश के पानी के साथ घुल जाती है जिसके कारण गंध या सुगंध पैदा होती है।

2. मिट्टी में पाए जाने वाला बैक्टीरिया “एक्टिनोमाइसेट्स”

दूसरा कारण “एक्टिनोमाइसेट्स” (Actinomycetes) बैक्टीरिया है। वैज्ञानिकों के अनुसार, मिट्टी में एक अलग प्रकार का बैक्टीरिया एक्टिनोमाइसेट्स पाया जाता है, जो गंध का कारण भी बनता है।

3. विभिन्न पौधों द्वारा निकलता तेल।

तीसरा कारण विभिन्न पौधों द्वारा निकलता तेल है। ये तेल पर्यावरण में इकट्ठा होते हैं और जब बारिश होती है, तो कुछ रसायन इस तेल को हवा में छोड़ देते हैं जो मिट्टी की खुशबू का कारण बनते हैं। साथ ही, कुछ वैज्ञानिक कहते हैं कि बारिश, पानी और मिट्टी किसी प्रकार की प्रतिक्रिया करते हैं, जिसकी वजह से अजीब सी खुशबू या सुगंध पैदा होती है।

कुछ शोधकर्ताओं ने पाया है कि मिट्टी में पाए जाने वाला बैक्टीरिया समय क साथ अपने बीजाणुओं को धीरे धीरे मिट्टी में फैला देता है। साथ ही कुछ पोधे गर्मियों में पानी ना मिलने के कारण सूख जाते हैं और उन सूखे हुए पोधो से एक तरह का तरल पदार्थ निकलता है जोकि पूरी मिट्टी में मिल जाता है। अब जैसे मिट्टी में ज्यादा मात्रा में पानी पड़ता है तब वो तरल पदार्थ, क्लोरीन गैस और मिट्टी के जीवाणु पानी के साथ मिल कर एक रासायनिक प्रतिक्रिया (chemical reaction) करना शुरू कर देतें हैं। और उसी रासायनिक प्रतिक्रिया की वजह से एक ख़ास तरह की खुशबू आने लगती है जिसे आम तोर पर “मिट्टी की खुशबू” के नाम से जाना जाता है।हालांकी, पहली बारिश के बाद ही ये तरल पदार्थ, बीजाणु और क्लोरीन गैस काफी हद तक पानी के साथ रासायनिक प्रतिक्रिया करके बेअसर हो जाती है जिसकी वजह से ये ख़ास तरह की गंध पहली बारिश में ही सबसे तेज़ आती है और फिर धीरे धीरे आना ख़त्म हो जाती है।

आइए अब मिट्टी में पाए जाने वाले जीवाणुओं का अध्ययन करें।

हम सभी जानते हैं कि बारिश की बूंदों में कोई गंध नहीं होती है, लेकिन जब वे पृथ्वी पर गिरते हैं और धूल के साथ मिलते हैं, तो एक प्रकार की गंध या मिट्टी से खुशबू आने लगती है। इस सुगंध को ‘पेट्रीकोर (petrichor) कहा जाता है।

“पेट्रीकोर” एक वैज्ञानिक शब्द है जिसका उपयोग बारिश के बाद हवा में गंध का वर्णन करने के लिए किया जाता है। यह ग्रीक शब्द “पेट्रा” से लिया गया है जिसका अर्थ है पत्थर और आयशर। इस घटना को पहली बार 1964 में दो ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने चित्रित किया था जब उनके लेख को प्रकाशित किया गया था जिसमे उन्होंने मिट्टी से खुसबू के कारण बताए थे। उनके अनुसार, पौधे कुछ प्राकृतिक तेल निकालते हैं और ये तेल आसपास की मिट्टी के साथ मिल जाते हैं, जहां वे अगली बारिश तक जमा रहते हैं। जब बारिश सूखी मिट्टी के साथ मिलती है, तो ये तेल वातावरण में छोड़ दिए जाते हैं। और उसी समय भू-मिट्टी के रूप में जानी जाने वाली मिट्टी में पाया जाने वाला एक रासायनिक यौगिक भी बारिश में फैलने लगता है।

अब आपको पता चल ही गया होगा की आखिर पहली बारिश के बाद मिट्टी से आती गंध का क्या कारण है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *